Pro 11 Tips For Successful Blogging in Hindi || Successful ब्लॉग बनाने के लिए 11 रामबाण टिप्स

Pro 11 Tips For Successful Blogging in Hindi: ब्लॉगिंग एक ऐसा बिषय है जिसके बारे में हर कोई सर्च करता है। आज के समय में हज़ारो ब्लॉगर महीने के हज़ारो डॉलर कमाते है और अपनी घर का खर्चा भी चला रहा है। लेकिन इसमें सबसे बड़ी बात ये आते है की एक Successful blog में वो कौन कौन सी चीजे होनी चाहिए जिसको गूगल और यूजर दोनों पसंद करें। मैंने गूगल का नाम इसलिए लिया कियुकी जब आप एक ब्लॉग बनाते है तोह उसको दो तारीखे से दिखा जाता है। पहला जो फ्रंट एन्ड है जो यूजर के सामने आता है; जैसे ब्लॉग का डिज़ाइन कैसा है ,उसका कंटेंट कैसा है , और दूसरा जो backend होता है जो search engine उसको देखता है।

अब आपके ब्लॉग में वो कौन कौन सी चीजे होनी चाहिए जो दोनों के लिए जरुरी है, तभी आपका ब्लॉग आपकी यूजर को भी पसंद आएगा और search engines को भी पसंद आएगा ताकि सर्च इंजन उसको पहले रैंक पे रखे। और जब यूजर उस टॉपिक को सर्च करें तब आपका ब्लॉग भी उसको पहले रैंक पे दिखाई दे ताकि वो जल्दी से जाके आपकी आर्टिकल को पड़ ले।

तोह ये साड़ी जानकारिया अगर आपको जाननी है तोह ये आर्टिकल (Pro 11 Tips For Successful Blogging in Hindi || Successful ब्लॉग बनाने के लिए 11 रामबाण टिप्स) लास्ट तक जरूर पढ़ियेगा। बोहोत गज़ब गज़ब जानकारिया आपको मिलने वाली है।

Pro 11 Tips For Successful Blogging in Hindi || Successful ब्लॉग बनाने के लिए 11 रामबाण टिप्स

1. Niche : 

दोस्तों ब्लॉग शुरू करने से पहले आपको सबसे पहले टॉपिक को decide कर लेना होगा। आप उस टॉपिक के बारे में सोचिये जिसके बारे में आप सबसे अच्छा लिख सकते है। मतलब आपको ऐसा टॉपिक चुनना है जिसके बारे में आप लगातार नियमित रूप से आर्टिकल लिख सकते है तोह उस टॉपिक के बारे में सोचिये। और ये टॉपिक कुछ भी हो सकता है। जैसे गार्डनिंग का टॉपिक हो सकता है , अगर आप डॉक्टर है अगर आप किसी बीमारी के बारे में जानते है तोह वो टॉपिक भी हो सकता है, DSLR camera के बारे में जानते है तोह वो टॉपिक भी हो सकता है, टेक्निकल टॉपिक भी हो सकता है, ऐसे बोहोत सरे टॉपिक हो सकते है। वैसे एक शब्द में आपको बता देता हु जो भी चीज आपको अच्छी लगती हो जिसके बारे में आप बिस्तारुप से जानकारी दे सकते है अपने यूजर को वो टॉपिक सेलेक्ट कर लीजिये।

2. Domain Name:

तोह जब टॉपिक सेलेक्ट हो गया तोह दूसरी चीज आती है के आपने ब्लॉग का नाम क्या रखा जाय। नाम एक मेहतपूर्ण बिषय है। नाम ही अपने पुरे ब्लॉग को दर्शको के दिमाग में एक इमेज की तरह छाप देता है। जैसे अमिताभ बच्चन का नाम लेने से ही आपके दिमाग में तुरंत उसका फोटो चाप जाएगी। इस तारीखे से अगर मई आपको आजतक चैनल का नाम बताऊ तोह वो दिमाग में आपके एक इमेज आजायेगी उस चैनल के बारे में।

तोह इसी तरह से आपका ब्लॉग का नाम ऐसा होना चाहिए जो एक बार लेते ही आपके ब्लॉग का पूरा जो डेटाबेस है , जो पूरी जानकारिया है के किस तरह की जानकारी आप देते है ब्लॉग पे या आपकी लिखनशैली कैसा है वो दिमाग में आजाये। तोह इसके ऊपर भी आपको जरूर ध्यान देना है और नामको तखनीखि भासा में हम कहते है Domain Name.

3. Hosting & Speed :

Domain Name के बाद जो फैक्टर आते है वो है होस्टिंग। अपने ब्लॉग की जो सारि जानकारिया जो है जैसे अपने जो आर्टिकल लिखे है , अपने जो इमेज डाले है , वीडियोस डाल रहे है ये सब इंटरनेट पे कही न कही रखे जाते है। जिस जगह पर ये सब स्टोर होते है उसको होस्टिंग कहते है। आपको होस्टिंग सर्विस के बारे में भी सबसे पहले सोचना है। आप जितना बढ़िया होस्टिंग सर्विस लेंगे आपकी साइट उतनी जल्दी लोड होगी और यूजर का जो अनुभब है आपकी वेबसाइट पे जाने का वो उतना ही बेहतर बनेगा।

और दोस्तों होस्टिंग का स्पीड भी होस्टिंग के साथ साथ एक फैक्टर होता है। ये यूजर के साथ भी बोहोत अच्छे से काम करता है और गूगल के सर्च इंजन के साथ भी अच्छे से काम करता है।

मान लीजिये किसी यूजर ने आपकी वेबसाइट को सर्च किया या फिर किसी टॉपिक को सर्च किया। और वो खुलने में थोड़ा सा टाइम लेती है तब यूजर झट से उसको छोड़के दूसरी वेबसाइट पे चला जाता है। गूगल भी इस चीज को नोट करता है के यूजर ने ये जो वेबसाइट को छोड़ी है वो कियु छोड़ी है ? हो सकता है इसमें कुछ कमी रही हो या फिर स्पीड का कोई फैक्टर रहा होगा।

इस मामले में आपका जो competitor है अगर उसका वेबसाइट आपकी वेबसाइट से जल्दी लोड होती है तोह इसका मतलब ये है के आपको अपनी वेबसाइट की स्पीड पे भी काम करना है और इसमें सबसे बढ़िया काम करती है आपकी होस्टिंग सर्विस।

अगर आप डोमेन और होस्टिंग सर्विस खरीदना चाहते है तोह निचे दिए गए इस वीडियो को पूरा देखिएगा

4. WordPress :

होस्टिंग सर्विस कैसे खरीदते है ऊपर दिए गए वीडियो में हमने देखलिया। अब इसके बाद में आपको decide करना है के किस प्लेटफार्म पर ब्लॉगिंग करते है। ब्लॉगिंग करने के बोहोत सरे प्लेटफार्म है जिसमे से सबसे पॉपुलर प्लेटफार्म है वर्डप्रेस(WordPress)। आप दुनिया में जितनी भी वेबसाइट देखते है, जितनी भी न्यूज़ वेबसाइट देखते है और जितनी भी आप most popular वेबसाइट देखते है हलाकि हमारी वेबसाइट भी online4hindi.com इस समय वर्डप्रेस पर ही है।

तोह मई ये नहीं कह रहा की आप भी अपनी वेबसाइट वर्डप्रेस पे ही बनाये, बोहोत सरे फ्री प्लेटफार्म भी है जैसे गूगल का Blogger. ब्लॉगिंग में शुरुवात करने के लिए आप ब्लॉगर को सेलेक्ट कर सकते है। लेकिन ब्लॉगर सिर्फ ब्लॉगिंग करने के लिया बनाया है। अगर आपको अपनी वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन जैसे फीचर्स ऐड करने है, quiz जैसे फीचर्स ऐड करने है या आपको बोहोत ज्यादा प्रोफ़ेशनल कोई वेबसाइट बनाने है तब उसके लिया ब्लॉगर नहीं है। उसके लिया आपको वर्डप्रेस पर ही जाना होगा और आपको उसपे बोहोत सरे ऑप्शन मिलते है मतलब फुल कस्टमाइज करके आपको अपनी वेबसाइट बना सकते है।

तोह ये आपको निश्चित करना है के आप वर्डप्रेस को चूस कर सकते है या फिर किसी फ्री ब्लॉगिंग प्लेटफार्म को जैसे ब्लॉगर को सेलेक्ट कर सकते है।

5. Be Professional:

तोह हमारा जो अगला पॉइंट है वो इस बारे में है के आप अपने आपको जब भी ब्लॉगिंग पे लेके आये जिस भी प्लेटफार्म पे लेके आये चाहे वर्डप्रेस पे या ब्लॉगर पे तोह एक ब्रांड की तरह लेके आये।

अब सोचिये ब्रांड किस तरह काम करता है। आप जो भी आर्टिकल लिख रहे है उसकी ग़ुरबकता का ध्यान रखिये। के अगर इस आर्टिकल को कोई बोहोत बड़ा आदमी पड़ता है तोह उसको ये realize होना चाहिए के किसी ने मेहनत करके ये आर्टिकल लिखी है। copy paste जैसे चीजों से आपको बचना है , किसी दूसरे के आर्टिकल से आप सिर्फ एक आईडिया ले सकते है। आईडिया लेना कोई बुरी बात नहीं है लेकिन उस में अगर जबतक आपकी शैली नहीं आएगी ,आप किस तरह से लिखते है आप अपनी बातों को किस तरह से ब्यक्त करते है तब तक वो किसी के काम का नहीं रहेगा।

और दूसरी चीज ये के हमेशा यही ध्यान रखना है के जो भी मई लिख रहा हु वो किसीके काम जरूर आना चाहिए। अगर आप किसीके समस्सा का समाधान करते है तोह मतलब आप वहा पे सफल हो चुके है। अगर आप किसी एक बेक्ति के भी एक अच्छे कमेंट को प्राप्त कर लेते है उसका मतलब ये है के आप ब्लॉगिंग में सफल हो चुके है या होने वाले है।

6. Do Marketing :

तोह दोस्तों अपने ब्लॉग तो बना लिया, अपने अच्छे अच्छे कंटेंट भी लिख लिया लेकिन मार्केटिंग बोहोत जरुरी है। अगर आप ब्लॉग की मार्केटिंग नहीं करते है तोह किसीको उस ब्लॉग के बारे में पता भी नहीं चलेगा।

मान लीजिये आप एक बोहोत अच्छा ब्लॉग बनाया है, आर्टिकल भी बोहोत अच्छा लिखे है लेकिन अपने मार्केटिंग कही नहीं की। लोगों को बताई नहीं की मैंने यहाँ पे एक ब्लॉग बनाया है जिसमे इस तरह का आर्टिकल लिखता हु। तोह मार्केटिंग बोहोत जरुरी है। मार्केटिंग दो तारीखे का होते है एक है फ्री मार्केटिंग और एक है पेड पार्केटिंग।

शुरुवात में जबतक आपका ब्लॉग बोहोत अच्छे से पॉपुलर नहीं हो जाता है तबतक आप फ्री मार्केटिंग पे फोकस करें जैसे की आप सोशल मीडिया पे अपनी जो भी आर्टिकल लिखते है उनके लिंक को शेयर कराये। वहा पे ट्रैफिक आएगा और ट्रैफिक आपके सीधे वेबसाइट पे आएगा। या आप दूसरे के ब्लॉग पे भी जाके कमेंट कर सकते है या फिर अपने आर्टिकल के लिंक को छोर सकते है। तोह आपके पास वहा से भी ट्रैफिक आना शुरू हो जायेगा। लेकिन कमेंट करने की चक्कर में ऐसा ना करें की जरुरत से ज्यादा कमेंट करना शुरू करदे। ऐसा ना करें , बोहोत उचित कमेंट करें और जब किसी ब्लॉग पे आप कमेंट करें तब ये ध्यान रखिये के कमेंट में आप उसके बारे में भी कुछ अच्छे चीजे लिखे ताकि आपका कमेंट पब्लिश हो और देखने में भी अच्छा लगे।

7. Ignore Negative Comment :

तोह जब हम ब्लॉगिंग के दुनिया में आते है तोह यहाँ पे सभी तारीखे के लोग मिलेंगे। यहाँ पे आपको प्रत्साहन करने वाले लोग भी मिलेंगे और आपको डाउन करने वाले लोग भी मिलेंगे। मई बात कर रहा हु नेगेटिव कमेंट की। पॉजिटिव कमेंट अगर आपके पास जितना भी चाहे आजाये लेकिन नेगेटिव कमेंट अगर एक भी आजाये तोह बड़ा मूड खराप होता है। लोग आपकी मेहनत को नहीं देखते। इंटरनेट के आने  के बाद से बोहोत सारि आज़ादी लोगो को मिल गयी है और सबसे बड़ी आज़ादी ये मिल गयी है के हर किसीके पास एक कीबोर्ड है और वो झट से कुछ  भी टाइप करके कमेंट कर देता है। तोह आपको ये सब नेगेटिव कमेंट को इगनोर कर देना है।

बोहोत सरे लोग है जो नेगेटिव कमेंट आने के बाद से ब्लॉगिंग जैसी चीजों को छोर देते है। बोहोत निराश हो जाता है ब्लॉगिंग के ऊपर। लेकिन आपको उन चीजों से नहीं रुकना है, आपको वहा पे बने रहना है और निरंतर रूप से आपको ब्लॉगिंग करते रहना है। एकदिन सफलता आपको जरूर मिलेगी।

8. Use More Images :

जब भी आप आर्टिकल लिखते है तोह सिंपल आर्टिकल मत लिखिए उसके साथ में आप इमेज को जोरिये। लोगो को जो इमेज है वो देखना बोहोत पसंद होता है। आप के ब्लॉग से जुड़ी हुई जो भी जानकारिया आप देते है अगर उस जानकारिया से रिलेटेड एक फोटो वहा पे डाल देते है अगर फोटो के साथ में एक इन्फोग्राफिक यानि इमेज के साथ में आप टेक्स्ट भी लिखके डालते है तोह लोगो को बड़ा पसंद आता है। उसमे इंटरेस्ट जगता है।

आपने देखा होगा बोहोत सारि जो किताबे है अगर चित्र के साथ में आते है तोह लोगो का पड़ने में मजा आता है। कुछ बिषय ऐसे होते है जो लोगो को समझ में नहीं आते है लेकिन अगर आप उसका एक फोटो वहा पे लगा देते है तोह लोगों की समझ में वो आसानी से आजाती है। इसलिए आप ज्यादा से ज्यादा ब्लॉग लिखते समय इमेज का प्रयोग करें।

9. Create Internal Link:

अगला पॉइंट भी इसी से जुड़ा हुआ है। अपने एक आर्टिकल लिखा जिसमे आपने कंप्यूटर के बारे में बताया। अब आप जो नया आर्टिकल लिख रहे है उसमे कही पे कोई कंप्यूटर शब्द आजाता है तोह उस शब्द से आप पुराने वाले आर्टिकल को लिंक कर सकते है। इसे हम तखनीकी भाषा में Hyperlink कहते है।

और इससे एक बोहोत बड़ा फायदा होता है। जब आप एक आर्टिकल से दूसरे आर्टिकल को लिंक करते है या Hyperlink करते है तोह अगर उस शब्द को अगर कोई समझना चाहा रा होगा तोह उसपे क्लिक करके आपके पुराने वाले आर्टिकल को पड़ सकता है। और इससे ब्लॉग पे जो बीतने वाला समय है यूजर का वो बढ़ जायेगा। अगर यूजर आपके एक आर्टिकल को पढ़ने में 10 मिनिट लगाता है और वो दूसरा आर्टिकल  को भी पढ़ने में पॉच जाता है। 

मान लीजिये उस एक यूजर ने आपके ब्लॉग पे 20 मिनिट काम से काम बिताये और इससे गूगल को पता चलेगा के आपके ब्लॉग में कुछ अच्छे सामग्री है और वो उसको rank up करेगा , अपने पहले पेज में लाने की कोईशिष करेगा अगर उस कीवर्ड के बारे में कोई सर्च करता है।

10. Make Short Paragraphs:

अब आपने आर्टिकल बोहोत अच्छा लिख लिया, अपने फोटो भी बोहोत अच्छा लगाली लेकिन एक गलती बोहोत सारे ब्लॉगर्स करते है के पैराग्राफ को बोहोत बड़े बड़े बनाते है। आपने देखा होगा आप खुद किसी ऐसे आर्टिकल को पड़ना पसंद नहीं करेंगे जिसमे बोहोत लम्बे लम्बे पैराग्राफ हो। इसके बारे में पहले से ही ऐसा लग जाता है के ये आर्टिकल पड़ने में बोहोत टाइम लगेगा। तोह आपके जो पैराग्राफ है उनको थोड़ा सा छोटा बनाने की कोइसीश करें। ज्यादा से ज्यादा 4 या 5 लाइन का पैराग्राफ बनाइये।

इसके साथ साथ बुलेट और नंबर्स का प्रयोग कर सकते है, लिस्ट बना सकते है, आप टेबल का यूज़ कर सकते है। इससे पड़ने वाले को मज़ा आता है पड़ने में।  जब उसको पढ़ने में मज़ा आएगा तोह वो ज्यादा से ज्यादा टाइम आपके ब्लॉग पे बिताएगा। और ज्यादा टाइम बिताने का मतलब ये है के गूगल ये समझेगा के आपके ब्लॉग की जो सामग्री है वो वाके में अच्छी है।

11. Do Regular Blogging:

इन सबके साथ साथ आपको नियमित भी रहना है , ऐसा नहीं करना के आपने एक आर्टिकल आज लिख दिया दूसरा आप एक साल बाद लिख रहे है फिर उसके 15 दिन बाद आपने एक और आर्टिकल लिख दिया। ऐसा नहीं करना है। अगर आप ब्लॉगिंग में regularity maintain करते है तोह लोगो को पता भी चलेगा के इस ब्लॉग में नियमित रूप से अच्छे अच्छे आर्टिकल पब्लिश होते है तोह लोग दुबारा से  उसको पढ़ने के लिए आएंगे।

केबल नयी नयी लोगो के लिए ब्लॉग पे काम नहीं करना , पुराने लोगो  को भी अपने ब्लॉग के साथ में जोड़के रखना है।

एक और जो बोहोत अच्छी टिप्स मई आपको बताने वाला हु वो है आपने आपको रिप्रेजेंट कीजिये, आप बताइये के आप कौन है। लोग आपके ब्लॉग को फॉलो करने से ज्यादा बेहतर पसंद करेंगे वो आपके बारे में जाने। तोह आपने आपको परिचित कराइये ब्लॉग के माध्यम से और लोगो से जुड़िये। जितना ज्यादा आप जुड़ेंगे, जितना ज्यादा आप कनेक्शन बनाएंगे उतना ज्यादा आपका ब्लॉग पॉपुलर होगा, लोग आपकी लिखनशैली को पसंद करेंगे, आपके ब्लॉग को पढ़ने के लिए आएंगे।

Final Words :

तोह दोस्तों ये सारे जो पॉइंट्स मैंने आपको बताया है ये एक Successful ब्लॉग बनाने के लिए बोहोत ज्यादा हेल्प करेंगे। आशा करता हु ये आर्टिकल (Pro 11 Tips For Successful Blogging in Hindi || Successful ब्लॉग बनाने के लिए 11 रामबाण टिप्स) जो है ये आपको बोहोत ज्यादा पसंद आया होगा और इसी तरह के आर्टिकल आपको इसी वेबसाइट में मिलते रहेंगे।

तोह दोस्तों कौनसा तरीखा आपको बोहोत अच्छा लगा है ब्लॉग को पॉपुलर करने का हमें कमेंट करके बताइये और अगर आपको भी कुछ तारीखे के बारे में मालूम है तोह निचे कमेंट करके जरूर बताइये।

Read also: A to Z Complete Youtube Community Guidelines in Hindi 

Leave a Comment

Share via
Copy link
Powered by Social Snap