ITI full form | ITI क्या है? कैसे करें? | ITI Course Full guide in Hindi

अधिकतर स्टूडेंट्स 10th और 12th पास हो जाने के बाद confuse हो जाते है के अब क्या करें, इसके लिए अपनी परिचित और दोस्तों से पूछते है के अखिर अब हम क्या करें, जिसमें भी उनको कई option के बारे मे पता चलता है, उनमे से ITI एक अच्छा option हो सकता हैं। आज के इस आर्टिकल  में हम जानेंगे के ITI क्या होता है? ITI Full Form क्या हैऔर इसमें हम आपको ITI से संबंधित सभी जानकारी देंगे।

ITI Full Form? आईटीआई का फुल फॉर्म क्या है?

ITI Full Form (फुल फॉर्म) Industrial Training Institute है तथा आईटीआई (ITI) का हिन्दी अर्थ औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान है।

ITI क्या है? (What is ITI in Hindi)

औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान ( ITI) एक ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट है जिसमें इंजीनियरिंग एवं गैर इंजीनियरिंग तकनीकी क्षेत्रों में ट्रेनिंग दी जाती है। यह संस्थान प्रशिक्षण रोजगार महानिदेशालय ( Directorate General Of Employment Of Training) के अंतर्गत सन् 1950 में गठित किया गया था तथा यह भारत सरकार के श्रम एवं रोजगार मंत्रालय संघ का हिस्सा भी है। इस संस्थान के अंतर्गत लगभग 130 विषयों पर प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है।

ITI के कोर्स की अवधि लगभग 6 महीने से लेकर 2 साल तक होती है। वर्तमान में भारत में 12 हजार ITI संस्थान है जिसमें से 2300 सरकारी तथा 9700 गैर-सरकारी ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट है। साल 2020 में आईटीआई से प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले छात्रों का भाग 45% था इससे यह अनुमान लगाया जा सकता है कि आईटीआई (ITI) को कैरियर का अच्छा साधन माना जा सकता है। आईटीआई प्रचलित ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट इसलिए भी है क्योंकि इसमें निम्न से लेकर उच्च वर्ग के विद्यार्थी दाखिला लेकर संस्थान के अंतर्गत पढ़ाए जाने वाले विभिन्न क्षेत्रों में शिक्षा अर्जित कर अपनी आजीविका के लिए अच्छा साधन चुन सकते हैं।

ITI क्या है, ITI Full Form

ITI में सेकेंडरी लेवल से लेकर ग्रैजुएट लेवल तक डिप्लोमा कोर्स प्रदान किए जाते हैं। आईटीआई में पढ़ाई करने वाले विद्यार्थियों की ट्रेनिंग पूर्ण होने के बाद उन्हें ऑल इंडिया ट्रेड टेस्ट (AITT) देना होता है और जो विद्यार्थी इस टेस्ट में पास होता है उसे नेशनल ट्रेड सर्टिफिकेट प्रदान किया जाता है जिसकी सहायता से द भारत के किसी भी भाग में नौकरी के लिए आवेदन कर सकता है। यह सर्टिफिकेट पूरे भारत में मान्य होता है।

आईटीआई (ITI) में कितने सब्जेक्ट होते हैं ?

आईटीआई में विभिन्न विषयों पर शिक्षा प्रदान की जाती है। इसमें विषयों को दो‌ भागों में बांटा गया है जिसमें पहला भाग तकनीकी इंजीनियरिंग तथा दूसरा भाग गैर-तकनीकी इंजीनियरिंग विषय है। आईए इन्हें विस्तार में जानते हैं-:

तकनीकी इंजीनियरिंग सब्जेक्ट ( Technical Engineering Subjects)

  • रेडियो मैकेनिक
  • टीवी मकैनिक
  • एयर कंडीशनिंग मैकेनिक
  • मैकेनिक ग्राइंडर
  • सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र
  • इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम रखरखाव
  • इलेक्ट्रॉनिक मैकेनिक
  • रेडियोलॉजी मकैनिक
  • सर्वेक्षक
  • ड्राफ्ट्समैन मैकेनिकल
  • बिजली मिस्त्री
  • ड्राफ्ट्समैन सिविल
  • उत्पादन और निर्माण क्षेत्र
  • विद्युत क्षेत्र
  • ऑटोमोबाइल क्षेत्र
  • वायरमैन
  • टर्नर
  • मैकेनिक
  • फिटर
  • वास्तु सहायक
  • आटोमोटिव बॉडी रिपेयर
  • ऑटो इलेक्ट्रिशियन
  • बढ़ई
  • आटोमोटिव पेंट मरम्मत
  • हार्डवेयर और नेटवर्किंग में कंप्यूटर
  • मैकेनिकल डीजल
  • स्प्रे पेंटिंग
  • मैकेनिक ट्रैक्टर
  • इंटीरियर डिजाइनिंग और डेकोरेशन
  • प्लास्टिक प्रोसेसिंग ऑपरेटर
  • नलसाज
  • वेल्डर
  • शीट फैब्रिकेटर

ये भी पढ़ें: मेरा जन्मदिन कब है कैसे जाने? | जानें कब आने वाला है आपका जन्मदिन!

गैर- तकनीकी इंजिनियरिंग सब्जेक्ट ( Non- Technical Engineering Subjects)

  • पोशाक बनाना
  • डेस्कटॉप पब्लिशिंग ऑपरेटर
  • वाणिज्य कला
  • कंप्यूटर ऑपरेटर और प्रोग्रामिंग
  • असिस्टेंट
  • काटना और सिलाई
  • फोटोग्राफी
  • खाद्य उत्पादन
  • सुई का काम
  • फैशन डिजाइनिंग
  • स्वास्थ्य निरीक्षक
  • बाल और त्वचा की देखभाल
  • टैक्सटाइल डिजाइनिंग
  • कंप्यूटर ऑपरेटर में कार्यालय सहायक
  • सचिवीय अभ्यास
  • अस्पताल हाउसकीपिंग
  • कृषि प्रसंस्करण
  • संसाधन व्यक्ति

 ITI में दाखिला के लिए किस प्रकार की योग्यता होनी चाहिए?

ITI की सबसे खास बात यह है कि इसके लिए छात्र को केवल 8 वीं या 12 वीं कक्षा पास होना जरूरी है। इसके बाद विद्यार्थी आईटीआई में अपने क्षेत्र के चुनाव अनुसार दाखिला ले सकता है। आईटीआई के अंतर्गत आने वाले सरकारी तथा गैर सरकारी इंस्टिट्यूट मेरिट एवं एंट्रेंस एग्जाम दोनों में से एक आधार पर दाखिला की प्रक्रिया का संचालन ( Admission process) करते हैं। आईटीआई में दाखिला (admission) के लिए निम्नलिखित योग्यताओं (Eligibilities) का होना आवश्यक है-:

गैर- तकनीकी इंजीनियरिंग क्षेत्र में दाखिले के लिए विद्यार्थी का न्यूनतम आठवीं और अधिकतम दसवीं कक्षा में पास होना अनिवार्य है।
तकनीकी इंजीनियरिंग क्षेत्र में दाखिले के लिए विद्यार्थी का 12वीं कक्षा में उत्तीर्ण होना आवश्यक है।
विद्यार्थी को थोड़ा तकनीकी ज्ञान होना चाहिए।
हिंदी एवं अंग्रेजी या अन्य भाषाओं का ज्ञान होना आवश्यक है।

ITI में एडमिशन के लिए कौन से Documents चाहिए होते हैं?

  1. आईटीआई में एडमिशन के लिए निम्नलिखित दस्तावेजों का होना आवश्यक है-:
  2. आठवीं, दसवीं या बारहवीं कक्षा की मार्कशीट की फोटोकॉपी होनी चाहिए।
  3. पहचान पत्र जैसे आधार कार्ड वोटर आईडी कार्ड या पैन कार्ड होना चाहिए।
    जाति प्रमाण पत्र यदि आवश्यक हो तो।
  4. निवास प्रमाण पत्र का होना आवश्यक है।
  5. बैंक अकाउंट संबंधित दस्तावेज जैसे पासबुक का होना आवश्यक है।
  6. फीस शुल्क के भुगतान हेतु डेबिट या क्रेडिट कार्ड होना चाहिए।
  7. पासपोर्ट साइज फोटो और मोबाइल नंबर का होना जरूरी है।

ITI में दाखिला की प्रक्रिया क्या है तथा आनलाईन रजिस्ट्रेशन कैसे करें?

ITI में दाखिला मेरिट या प्रवेश परीक्षा के आधार पर किया जाता है। आईटीआई में आने वाले संस्थान अपने सुविधा के अनुसार इन दोनों प्रक्रियाओं में से एक का चुनाव कर दाखिले की शुरुआत करते हैं। आईटीआई में दाखिला लेने वाले विद्यार्थियों की न्यूनतम आयु 14 वर्ष तथा अधिकतम आयु 40 वर्ष होनी चाहिए। आईटीआई दाखिले की प्रक्रिया की शुरुआत हर वर्ष 1 अगस्त से हो जाती है। आईटीआई में ऑनलाइन अप्लाई (ITI Apply online) इस प्रकार किया जा सकता है-:

  • सबसे पहले उम्मीदवार को राज्य की अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
    होम पेज पर न्यू रजिस्ट्रेशन पर क्लिक करना है।
  • आपके सामने एक रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुलकर आ जाएगा अतः पूछी गई संबंधित जानकारी जैसे नाम, पता, जाति, लिंग, मोबाइल नंबर आयु, जिला क्षेत्र, राज्य, मैरिटल स्टेटस आदि भरे।
  • आईटीआई में अपनी रुचि अनुसार तकनीकी इंजिनियरिंग या गैर-तकनीकी इंजीनियरिंग क्षेत्र का चुनाव करें।
    संबंधित दस्तावेजों को अपलोड करें।
  • सारी जानकारी ध्यानपूर्वक भरने के पश्चात सबमिट के विकल्प पर क्लिक करें।
  • अंत में फीस शुल्क को डेबिट या क्रेडिट कार्ड के माध्यम से भरें।
  • फॉर्म तथा फी रिसिप्ट की फोटोकॉपी का प्रिंट निकाल ले और भविष्य के लिए सुरक्षित रखें।

ITI कोर्स फीस कितनी होती है?

आईटीआई संस्थान में विभिन्न कोर्स कराए जाते हैं परंतु विद्यार्थी का सबसे महत्वपूर्ण और पहला सवाल यही होता है कि कोर्स की फीस क्या होगी? इस सवाल का जवाब देते हुए हम आपको बताते हैं कि आईटीआई के अंतर्गत सरकारी तथा गैर सरकारी दोनों ही प्रकार के ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट शामिल है इसीलिए सरकारी ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट में इंजीनियरिंग तकनीकी कोर्स के लिए 2000 से 10000 तथा गैर तकनीकी इंजीनियरिंग कोर्स के लिए 4000 से 15000 तक का शुल्क लिया जाता है। वही निजी एवं गैर सरकारी ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट में इंजीनियरिंग तकनीकी कोर्स के लिए 20,000 से 60,000 तथा गैर तकनीकी इंजीनियरिंग के लिए 15000 से 60,000 तक का शुल्क लिया जाता है।

ITI के बाद नौकरी तथा सैलरी क्या होती है?

ITI क्या है

आईटीआई में पढ़ने वाले विद्यार्थी तकनीकी तथा गैर तकनीकी दोनों क्षेत्रों में ज्ञान अर्जित करते हैं। विद्यार्थी अपनी इच्छा अनुसार एक क्षेत्र का चुनाव कर उसमें शिक्षा का ज्ञान अर्जित करता है। आईटीआई में पाठ्यक्रम तथा तकनीकी ज्ञान पर ज्यादा जोर दिया जाता है। आईटीआई ट्रेनिंग के आधार पर विद्यार्थी किसी भी सरकारी या निजी कार्यालयों में नौकरी के लिए आवेदन कर सकता है। आईटीआई कोर्स के बाद जॉब मिलना आसान हो जाता है

क्योंकि यहां पर विभिन्न विषयों के तकनीकी आधार पर शिक्षा प्रदान की जाती है। आईटीआई से कोर्स करने के बाद किसी भी विद्यार्थी को न्यूनतम 10000 तथा अधिकतम 25 से 30,000 तक की सैलरी मिलती है। जिस विद्यार्थी का कौशल जितना मजबूत होगा उसे उस आधार पर नौकरी के लिए विकल्प मिलेंगे।

उम्मीद है आपको हमारा आर्टिकल ITI Full Form पसंद आया होगा। इस आर्टिकल में हमने आपको आईटीआई से संबंधित सभी जानकारी प्रदान की है।

Leave a Comment

Share via
Copy link
Powered by Social Snap